डिप्रेशन से बचना है तो रोजाना खाएं अखरोट

walnuts

आजकल ज्यादातर लोग डिप्रेशन की बीमारी से जूझ रहे हैं। यह एक सामान्य बात है। इस भाग दौड़ भरी जिंदगी में लोग मानसिक रूप से कमजोर होने लगते हैं। जिससे लोगों को भूलने की बीमारी हो जाती है। डिप्रेशन बेहद खतरनाक बीमारी है, इस पर अमेरिका ने कई खुलासे किए हैं। शोध से पता चला है कि अखरोट डिप्रेशन को दूर करने में काफी फायदेमंद होता है। आप बताएं अखरोट खाने के फायदे

अखरोट खाने से दिमाग तेज होता है, जिससे हम चीजों को भूल जाते थे। उसे याद करने में बहुत मदद मिलती है। डिप्रेशन से बचने के लिए कई उपायों की जरूरत होती है, जैसे खान-पान में बदलाव। लेनोर अरब ने बताया कि अखरोट पर पहले दिल की बीमारियों के संबंध में शोध किया जाता रहा है और अब इसे अवसाद के लक्षणों से जोड़ा जा रहा है। इस अध्ययन में 26 हजार अमेरिकी वयस्कों को शामिल किया गया था।

प्रमुख शोधकर्ता लेनोर अरब ने एक अध्ययन का हवाला देते हुए दिखाया कि अध्ययन में शामिल 6 वयस्कों में से 1 ने अपने जीवन में किसी बिंदु पर अवसाद का अनुभव किया।

कैलिफोर्निया विश्वविद्यालय के शोधकर्ताओं ने अखरोट खाने वाले लोगों में अवसाद का स्तर 26 प्रतिशत कम पाया। वहीं, ऐसी दूसरी चीजें खाने वालों में डिप्रेशन का स्तर 8 फीसदी कम पाया गया।

अखरोट को पावर फूड का नाम दिया गया है क्योंकि यह स्टैमिना बढ़ाने में भी मदद करता है। इसे ब्रेन फ़ूड भी कहते हैं।

एक अमेरिकी संस्थान के शोध के अनुसार विटामिन ई, ओमेगा 3 फैटी एसिड, एंटीऑक्सीडेंट का अच्छा स्रोत होने के कारण मस्तिष्क को प्रतिदिन ऊर्जा मिलती है।

फेसबुक पर हमसे जुड़ने के लिए यहां क्लिक करें, साथ ही ताज़ा अपडेट के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर हमें फॉलो करें।

From around the web