विवेकानंद जयंती पर युवाओं को स्व-रोजगार से जोड़ने की सरकार की अभिनव पहल : जनजातीय मंत्री मीना सिंह

विवेकानंद जयंती पर युवाओं को स्व-रोजगार से जोड़ने की सरकार की अभिनव पहल : जनजातीय मंत्री मीना सिंह

भोपाल :  स्वामी विवेकानंद जयंती के अवसर पर युवाओं को स्व-रोजगार से जोड़ने की दिशा में सरकार द्वारा अभिनव प्रयास किया जा रहा है। युवा स्व-रोजगार से जुड़कर अपने परिवार और देश के विकास में सहभागी बनें।

जनजातीय कार्य और अनुसूचित-जाति कल्याण मंत्री मीना सिंह बुधवार को उमरिया में रोजगार मेले को संबोधित कर रही थीं। उन्होंने कहा कि स्वामी विवेकानंद जयंती पर मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के मार्गदर्शन में पूरे प्रदेश में स्व-रोजगार मेले आयोजित किये गये हैं। उन्होंने कहा कि स्वामी विवेकानंद का मानना था कि युवाओं को सही मार्गदर्शन देने पर देश तेजी से विकास की ओर अग्रसर होता है। युवाओं को काम मिले, हर परिवार की रोजी-रोटी, शिक्षा और आवास की व्यवस्था हो, इसी सोच को ध्यान में रखकर सरकार योजनाओं को मूर्त रूप देने के लिये पूरी गंभीरता से काम कर रही है। मंत्री सिंह ने कहा कि युवाओं को रोजगार के अधिक से अधिक अवसर दिलाने के लिये जिला प्रशासन, जन-प्रतिनिधि, बैंकर्स, उद्योग, ग्रामीण आजीविका मिशन, रोजगार, पशुपालन, सहकारिता सहित सभी का संयुक्त प्रयास रंग ला रहा है।

जनजातीय कार्य मंत्री सिंह ने कहा कि युवा रोजगार माँगने वाले नहीं, बल्कि देने वाले बनें। युवा पूरी ईमानदारी के साथ अपना व्यवसाय प्रारंभ करेंगे, तो निश्चित रूप से कामयाबी की बुलंदियों को छू सकेंगे। रोजगार मेले में 7 हजार 154 प्रकरणों में 27 करोड़ 24 लाख से अधिक रुपये का ऋण और अनुदान उपलब्ध कराया गया।

विधायक बाँधवगढ़ शिवनारायण सिंह ने कहा कि तरुणाई में देश के भविष्य की तलाश की जाती है। प्रदेश सरकार ने युवाओं को रोजगार से जोड़ने का सराहनीय प्रयास किया है। इस मौके पर सांकेतिक रूप से 100 हितग्राहियों को लाभान्वित किया गया, जिनमें किसान-कल्याण तथा कृषि विभाग के स्प्रिंकलर पाइप-लाइन के हितग्राहियों, स्ट्रीट वेण्डर योजना के हितग्राही, पीएमएफएमई योजना के हितग्राही, मुद्रा योजना के हितग्राही, केवीआईवी योजना के हितग्राही के अलावा कृषि विभाग द्वारा संचालित योजना के तहत और मत्स्य विभाग के किसान क्रेडिट कार्ड के और पशुपालन विभाग के किसान क्रेडिट कार्ड के हितग्राहियों को क्रेडिट कार्ड प्रदान किये गये।

मेले में “एक जिला-एक उत्पाद” योजना में चयनित महुए से विभिन्न उत्पादों से जुड़े स्व-सहायता समूहों की महिलाओं ने प्रदर्शनी भी लगाई। अतिथियों ने हीना फेब्रिक डिजाइनर द्वारा बनाये गये विभिन्न कपड़ों तथा सृजन ब्रिक्स उद्योग और राजभोग आटा चक्की से निर्मित आटे का अवलोकन किया।

जनजातीय कार्य मंत्री मीना सिंह की अध्यक्षता में जनपद पंचायत मानपुर में क्राइसिस मैनेजमेंट की बैठक भी हुई। मंत्री सिंह ने कहा कि रोको-टोको अभियान चलाकर आमजन को मास्क लगाने के लिये प्रेरित किया जाये। साथ ही कोविड-19 से बचने के लिये आवश्यक दिशा-निर्देश भी दिये गये।

फेसबुक पर हमसे जुड़ने के लिए यहां क्लिक करें, साथ ही ताज़ा अपडेट के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर हमें फॉलो करें।

From around the web