रतलाम: धोलावाड़ डेम में पर्याप्त पानी है, फिर जल संकट क्यों?

डंके की चोट पर 'सिर्फ सच'

  1. Home
  2. Madhya Pradesh

रतलाम: धोलावाड़ डेम में पर्याप्त पानी है, फिर जल संकट क्यों?


रतलाम: धोलावाड़ डेम में पर्याप्त पानी है, फिर जल संकट क्यों?


रतलाम, 14 मई (हि.स.)। धोलावाड़ में पर्याप्त पानी है, निगम में पर्याप्त व्यवस्था और संसाधन है, फिर जलप्रदाय का संकट क्यों? इस बात को लेकर शहर विधायक चेतन्य काश्यप ने कलेक्टर एवं निगम प्रशासक कुमार पुरूषोत्तम तथा आयुक्त सोमनाथ झारिया के साथ विशेष बैठक कर नगर में व्याप्त जल संकट को लेकर समीक्षा की।

श्री काश्यप ने कहा कि जलप्रदाय के संबंद्ध में आ रही शिकायतों का तत्काल निराकरण किया जाए। समान रुप से सभी क्षेत्रों में जलप्रदाय सुनिश्चित किया जाए।

विधायक द्वारा जलप्रदाय व्यवस्था की विस्तृत समीक्षा की गई। व्यवस्था गड़बड़ाने के कारण नगर निगम की जलप्रदाय व्यवस्था के प्रभारी कार्यपालन यंत्री एम.एच. शेख को दायित्व से हटाया गया। विधायक ने निर्देशित किया कि शहर में जलप्रदाय के संबंध में जो भी तकनीकी समस्याएं हैं अथवा स्टाफ संबंधी समस्या है, उनका तत्काल समाधान किया जाए। सभी खामियों को दुरुस्त किया जाए। जिन क्षेत्रों में जलप्रदाय ठीक ढंग से नहीं हो पा रहा है, वहां टैंकरों से पानी पहुंचाने की व्यवस्था करें। नगर निगम के मोरवानी तथा धोलावाड़ स्टेशंस पर सप्लाई की सतत मॉनिटरिंग की जाए। शहर में जल प्रदाय नियमित रूप से हो। जल व्यवस्था के संबंध में विधायक श्री काश्यप ने कहा कि जब शहर में मांग के अनुसार धोलावाड़ डेम में पानी की व्यवस्था उपलब्ध है तथा निगम के पास पर्याप्त संसाधन भी है, फिर भी जल प्रदाय में गड़बड़ी क्यों? इस गड़़बड़ी को तत्काल दुरूस्त किया जाए।

बैठक में विधायक द्वारा वर्षा के पूर्व नालों की सफाई का कार्य अभियान के रूप में करने के निर्देश दिए गए उन्होंने नगर निगम में नामांतरण की कार्रवाइयों में भी तेजी लाने हेतु निर्देशित किया। अन्य बिंदुओं पर भी आवश्यक दिशा निर्देश दिए गए।

जहां विधायक चेतन्य काश्यप ने भीषण गर्मी में जलसंकट को लेकर अधिकारियों की बैठक ली, वहीं दूसरी ओर सोमवार को गंभीर जलसंकट को लेकर कांग्रेस ने धरने की चेतावनी दी है। ऐसे में जलप्रदाय व्यवस्था में सुधार होता है कि नहीं यह चर्चा का विषय है?

हिन्दुस्थान समाचार/ शरद जोशी