सतसंग में मुसीबतों का सामना करने का दिया संदेश

डंके की चोट पर 'सिर्फ सच'

  1. Home
  2. Regional
  3. Jammu & Kashmir

सतसंग में मुसीबतों का सामना करने का दिया संदेश


सतसंग में मुसीबतों का सामना करने का दिया संदेश


जम्मू, 9 अगस्त (हि.स.)। मंगलवार को यहां अवताल ग्राम में सत्संग का आयोजन किया गया, जिसमें विभिन्न क्षेत्रों की बड़ी संगत ने भाग लिया।

संगत को सम्बोधित करते हुए स्वामी विनय मुनि ने कहा, मृत्यु जीवन का अविभाज्य अंग है। अगर हमें ईमानदारी से और बिना किसी डर के जीवन जीना है, तो हमें यह भी स्वीकार करना होगा कि मृत्यु अंततः अपरिहार्य है। मृत्यु हमें डर में जीने के लिए नहीं, बल्कि अपने जीवन को सबसे अच्छे तरीके से जीने के लिए प्रेरित करती है जो हम कर सकते हैं।

यह महत्वपूर्ण है कि हम स्थिति से न भागें और इसके बजाय जिम्मेदार तैयारी करें और साथ ही अपने परिवार और दोस्तों के साथ अपनी इच्छाओं के बारे में बात करें। स्वामी ने कहा कि हमारी संस्कृति, धर्म या आध्यात्मिक समूह में मृत्यु के साथ होने वाले संस्कारों और रीति-रिवाजों को समझकर हम मृत्यु और शोक की प्रक्रिया के लिए बेहतर तैयारी कर सकते हैं।

स्वामी ने आगे युवाओं से उन बुरी बुराइयों से दूर रहने का आग्रह किया, जो उन्हें कमजोर करती हैं और उन्हें नरक की ओर ले जाती हैं।

हिन्दुस्थान समाचार/राहुल/बलवान