टी20 विश्व कप: संजय बांगर ने पाकिस्तान को इंग्लैंड के खिलाफ फाइनल जिताने के लिए गेंदबाजों का समर्थन किया

डंके की चोट पर 'सिर्फ सच'

  1. Home
  2. Sports

टी20 विश्व कप: संजय बांगर ने पाकिस्तान को इंग्लैंड के खिलाफ फाइनल जिताने के लिए गेंदबाजों का समर्थन किया

pic


नई दिल्ली | भारत के पूर्व बल्लेबाजी कोच संजय बांगर ने रविवार को मेलबर्न क्रिकेट ग्राउंड में इंग्लैंड के खिलाफ टी20 विश्व कप के फाइनल में बाबर आजम की अगुवाई वाली टीम को जीत दिलाने के लिए पाक गेंदबाजी आक्रमण का समर्थन किया है। टूर्नामेंट में अब तक पाकिस्तान की सफलता को उनके बाएं हाथ के तेज गेंदबाज शाहीन शाह आफरीदी के नेतृत्व में उनके नए गेंद के आक्रमण से जोड़कर देखा जा रहा है, जिन्होंने दाहिने घुटने की चोट से वापसी पर कमजोर शुरूआत के बाद शानदार फॉर्म पाया है। पाकिस्तान ने पावर-प्ले में 6.19 की इकॉनमी रेट और 18.58 के औसत के साथ 12 विकेट लिए हैं। इसके अलावा स्पिनरों ने बीच के ओवरों में अहम भूमिका निभाई है।

बांगर ने कहा, "मैं शायद पाकिस्तान का समर्थन करूंगा, क्योंकि गेंदबाज टूर्नामेंट जीतते हैं और यहीं पाकिस्तान के पास जिस तरह का गेंदबाजी आक्रमण है, मेरा मतलब है कि चार गुणवत्ता वाले तेज गेंदबाज हैं और उनके पास कलाई के स्पिनर है, और अगर उन्हें आवश्यकता होती है तो उनके पास एक बाएं हाथ के स्पिनर का विकल्प भी है।"

उन्होंने कहा, "मुझे नहीं लगता कि वे उस विकल्प का इतना उपयोग करेंगे, लेकिन शादाब खान जिस तरह की हरफनमौला क्षमता रखते हैं, जिस तरह का आक्रमण उनके पास है, वह काफी बेहतर है। हम पहले ही देख चुके हैं। मुझे लगता है कि पाकिस्तान इस समय इंग्लैंड से थोड़ा आगे है।"

बल्ले के साथ, कप्तान बाबर आजम और मोहम्मद रिजवान के पाकिस्तान के शुरूआती साझेदारी ने या तो पहले बल्लेबाजी या पीछा करते हुए महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है। उन्हें तीसरे नंबर पर युवा मोहम्मद हारिस द्वारा लाई गई निडरता और चौथे नंबर पर शान मसूद द्वारा दिखाई गई स्थिरता से भी बढ़ावा मिला है, एक ऐसा कारक जिसे आस्ट्रेलिया के पूर्व क्रिकेटर टॉम मूडी ने नोट किया था।"

उन्होंने आगे कहा, "पाकिस्तान के बारे में दिलचस्प बात यह है कि हारिस ने जो प्रभाव डाला है और एक बल्लेबाजी इकाई के रूप में टीम को मजबूती दी है। वह एक युवा खिलाड़ी के लिए काफी उल्लेखनीय है।"

मूडी ने रविवार को टी20 विश्व कप फाइनल के माध्यम से एमसीजी में इंग्लैंड पर 1992 की वनडे विश्व कप जीत की दोहराने के लिए पाकिस्तान का समर्थन किया।