संचारी रोगों के कारण प्रशासन परेशान, क्या सिर्फ बैठक से होगा निदान!

 
banda

विनोद मिश्रा
बांदा।
संचारी रोग नियंत्रण अभियान 18 अक्टूबर से 17 नवम्बर तक चलानें के सन्दर्भ में बैठक हुई।मुख्य विकास अधिकारी वेद प्रकाश मौर्य नें अध्यक्षता की। पर सवाल यह उठता हैं की क्या बैठकों की औपचारिकता मात्र से हो पायेगा निदान। इसके लिए ग्राउंड स्तर पर ईमानदारी से कार्य करना होगा।

इसी क्रम में फिरबैठक हुई। इसमें विशेष संचारी रोग नियंत्रण तथा दिमागी बुखार पर  नियंत्रण हेतु अधिकारियों को दायित्व सौंपा गया।

सीडिओ ने स्वास्थ्य विभाग को रोगियों के निःशुल्क रोगीवाहन की व्यवस्था तथा ग्रामीण क्षेत्रों में वाहन की स्थिति की जानकारी ली। श्रोतों में कमी, लारवा रोगी गतिविधियों की रोकथाम के लिए फागिंग, प्रचार-प्रसार,माॅनीटरिंग, पर्यवेक्षण, रिपोर्टिंग, अभिलेखीकरण तथा विश्लेषण आदि के निर्देश दिये। 

नगरीय क्षेत्र में मोहल्ला निगरानी समितियों के माध्यम से कोविड तथा संचारी रोगों के विषय में जागरूकता तथा कोविड  लक्षणयुक्त व्यक्तियों कोमेडिसिन में सहयोगपर जोर दिया। ग्राम प्रधानों को अपने ग्राम में अभियान पर सतर्कता को कहा। पशुपालन विभाग को सभी प्रकार के पशु बाडों की स्वच्छता, कचरा निस्तारण तथा मच्छर रोधी जाली के प्रयोग के निर्देश दिये गये। कुपोषण के निदान पर भी चर्चा हुई।

फेसबुक पर हमसे जुड़ने के लिए यहां क्लिक करें, साथ ही ताज़ा अपडेट के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर हमें फॉलो करें।

From around the web