महिलाओं की जागरूकता समाज के विकास का दर्पण है : लक्ष्य

 

आजमगढ़. भारतीय समन्वय संगठन(लक्ष्य) की लक्ष्य कमांडर राजकुमारी कौशल ने आजमगढ़ के खरसहन गांव का दौरा किया और बहुजन समाज के लोगों के साथ एक सामाजिक चर्चा की |

महिलाओं की जागरूकता समाज के विकास का दर्पण है, जिस समाज की महिलाऐं जितनी जागरूक होंगी उनका समाज उतना ही विकसित होगा | महिला परिवार की अहम कड़ी होती है अगर यह कड़ी मजबूत होती है तो परिवार मजबूत व विकसित होता है और अगर परिवार विकसित होता है तो उनका समाज भी विकसित व मजबूत होता है और अगर महिलाएं जागरूक नहीं है तो उनका समाज भी कमजोर व लाचार होता है अर्थात दया का पात्र होता है इस संदर्भ में बाबा साहब डॉ भीमराव अम्बेडकर ने भी कहा था कि किसी भी समाज के विकास को उस समाज की महिलाओं के विकास से जाना जा सकता है यह बात लखनऊ से आई लक्ष्य कमांडर राजकुमारी कौशल ने कही |

उन्होंने बहुजन समाज की महिलाओं से आवाह्न करते हुए कहा कि अंधविश्वास को त्यागो, शिक्षा को प्राप्त करो और अपने घूँघट से बाहर निकलकर समाज के अधिकारों के लिए संघर्ष करों |

इस सामाजिक चर्चा में लक्ष्य कमांडर राजकुमारी कौशल, शिखा कौशल, एस पी कौशल व स्वप्रिल बंसल ने हिस्सा लिया |

From around the web