धसान नदी के पानी से धनी होंगे जिले के सीमावर्ती किसान

 
00

विनोद मिश्रा
बांदा।
अर्जुन सहायक परियोजना के जरिए धसान नदी का पानी चित्रकूट धाम मंडल के महोबा व हमीरपुर के साथ बांदा के किसानों की खेती में समृद्धि लाएगा। यहां मटौंघ क्षेत्र के उस इलाके को पानी मिलेगा जहां अक्सर लोगो को सूखे का सामना करना पड़ता है। यह क्षेत्र महोबा जिले से लगा हुआ है और यहां की ढाई हजार हेक्टेअर भूमि सिचित होगी।

सूखे बुंदेलखंड को शुक्रवार को सिचाई के लिए  नई सौगात प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी महोबा में अर्जुन सहायक परियोजना का शुभारंभ करके दे दी है। 2655.35 करोड़ लागत वाली इस परियोजना से  मंडल के तीन जिलों महोबा, हमीरपुर व बांदा की कुल 44 हजार 381 हेक्टेअर भूमि की सिचाई होगी। जिसमें बांदा के मटौंध व आसपास के क्षेत्र की 25 सौ हेक्टेअर भूमि की सिचाई इस परियोजना से होगी। जिले का यह इलाका असिचित क्षेत्र में आता है। यहां के अधिकांश किसान बारिश पर ही निर्भर रहते हैं। यदि समय से वर्षा नही हुई तो खेती करना मुश्किल काम हे जाता है। ऐसे में यह परियोजना इस सूखे क्षेत्र की किसानी में समृद्धि लाने का काम कर सकेगी। केन के साथ ही अब धसान नदी का पानी किसानों को सिचाई के लिए मिलने लगेगा।

 

फेसबुक पर हमसे जुड़ने के लिए यहां क्लिक करें, साथ ही ताज़ा अपडेट के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर हमें फॉलो करें।

From around the web