7 घंटे में लखनऊ से पकड़े गए दहेज हत्यारोपी पति व सास

 
00

अज़हर उमरी 
कानपुर।
थाना नजीराबाद क्षेत्र में विवाहिता का शव फंदे से लटकता हुआ मिलने की सूचनाबपर पुलिस ने दरवाजा तोड़कर शव बाहर निकाला। मौके पर विवाहिता के ससुराल वाले नहीं मिले। सूचना पर पहुंची पुलिस ने फॉरेंसिक टीम के साथ साक्ष्य जुटाए। पुलिस ने मृतका के परिजनों की तहरीर पर मुकदमा दर्ज कर लिया। घटना के तुरंत बाद एक्शन में आई पुलिस ने दहेज हत्यारोपी ससुराल वालों महज सात घन्टे में लखनऊ से गिरफ्तार कर लिया।

घटना क्रम के मुताबिक थाना काकादेव निवासी कारोबारी पवन ग्रोवर की 24 वर्षीय बेटी आंचल खरबंदा का विवाह तीन साल पहले अशोकनगर के रहने वाले सूर्यांश से हुआ था। शनिवार को आँचल के परिजनों को जानकारी मिली कि उसने फांसी लगा ली है। कुछ देर बाद परिजनों द्वारा गेट खोला गया और वह लोग मकान के दूसरे खंड में बने कमरे में पहुंचे तो वहां आंचल का शव पंखे में दुपट्टे के सहारे लटका था। सूचना पर पहुंची पुलिस ने शीशे की खिड़की तोड़कर शव को बाहर निकाला। 

घर में आँचल का पति सूर्यांश और सास निशा नहीं मिले। आँचल के घरवालों ने बेटी की दहेज हत्या करने का आरोप लगाते हुए हंगामा करना शुरू कर दिया। उनकी तहरीर पर पुलिस ने सुसंगत धाराओं में मुकदमा दर्ज कर लिया। आँचल के परिजनों ने पहले शव को पोस्टमार्टम के लिये ले जाने का विरोध करने लगे। काफी समझाने के बाद जब शव को पोस्टमार्टम के लिए भेजा गया तो वहाँ भी शव को बाहर निकाल कर हंगामा करने लगे। पुलिस ने काफी जद्दोजहद के बाद शव का पोस्टमार्टम कराया। 
देरशाम पोस्टमार्टम रिपोर्ट में मौत की वजह हैंगिंग आई है। उधर आँचल के पति सूर्यांश और सास निशा को पुलिस ने तेजी दिखाते हुए लखनऊ से पकड़ लिया। पुलिस दोनों आरोपितों को लेकर कानपुर के लिए रवाना हो चुकी है। दोनों के खिलाफ पुलिस ने सुसंगत धाराओं में मुकदमा दर्ज कर जांच व अग्रिम कार्रवाई शुरु कर दी है। उधर इतनी स्पीड में कार्रवाई करने वाले पुलिस टीम को डीसीपी साउथ रवीना त्यागी द्वारा पुरुस्कृत किया जायगा।

 

फेसबुक पर हमसे जुड़ने के लिए यहां क्लिक करें, साथ ही ताज़ा अपडेट के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर हमें फॉलो करें।

From around the web