डीएम अनुराग का शिक्षा के प्रति कैसे पूरा होगा "राग", जब शिक्षक ही लगा रहें हैं "आग"

 
00

विनोद मिश्रा
बांदा।
डीएम अनुराग पटेल की शिक्षा में सुधार का "अनुराग" कैसे पूरा होगा जब शिक्षक ही व्यवस्था को पलीता लगा रहें है। खबर जिले के महुआ ब्लाक अंतर्गत प्राथमिक विद्यालय नाला पार हस्तम का है। बच्चे समय से बड़ी संख्या में स्कूल में उपस्थित हो जाते हैं, लेकिन शिक्षक समय से नहीं पहुंचते। स्कूल में चार शिक्षक है ,लेकिन सारे के सारे समय पर उपस्थित नहीं हो पाते।

शिक्षा सुधार के लिए जिला अधिकारी अनुराग पटेल ने अधिकारियों की डियूटी लगाई है जिसमें 101अधिकारी 202 विद्यालयो को गोद ही नहीं लेंगे बल्कि पढ़ाएंगे भी।

जिला अधिकारी शिक्षा में सुधार के प्रति गंभीर है, फिर यह लापरवाही किसके दम पर शिक्षक कर रहे हैं। संकुल प्रभारी या एबीएसए या स्थानीय स्तर की शिक्षा समिति। जिस कारण शिक्षक अपनी सुविधा अनुसार आते हैं।
देखना यह है कि बच्चों के भविष्य के साथ कब तक यह खिलवाड़ होता रहेगा ?

ऐसे अनुशासन हीन शिक्षकों पर कब होगी कार्यवाही? अगर शिक्षकों की अनुपस्थिति में विद्यालय में किसी बच्चे के साथ हादसा हो जाता है तो कौन होगा जिम्मेदार शिक्षक, शासन या प्रशासन?

फेसबुक पर हमसे जुड़ने के लिए यहां क्लिक करें, साथ ही ताज़ा अपडेट के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर हमें फॉलो करें।

From around the web