ज्वालामुखी शक्तिपीठ में उमड़ा जनसैलाब, 3 सूबों के हजारों श्रद्धालुओं ने माथा टेक लगाया जयकारा

 
00

राकेश पाण्डेय

वाराणसी। सोनभद्र के शक्तिनगर में नवरात्र में ज्वालामुखी मंदिर में पचास हजार से अधिक दर्शनार्थियों ने मां के दरबार में मत्था टेका और दर्शन-पूजन किया। 

शक्तिपीठ मां ज्वालामुखी मंदिर में बुधवार की भोर चार बजे से ही दर्शनार्थियों का जमावड़ा होने लगा। मां के श्रृंगार आरती के बाद जैसे ही मंदिर का गर्भ गृह खुला, वैसे ही मंदिर के गर्भ गृह में दर्शनार्थी दर्शन पूजन के लिए उमड़ पड़े। दिन चढ़ने के साथ महिला, पुरुष दर्शनार्थियों की लाइन भी लंबी होती चली गई। भारी भीड़ के कारण श्रद्धालुओं को घंटों लाइन में खड़ा रहना पड़ा। अनुमान के अनुसार पचास हजार से अधिक दर्शनार्थियों ने आखिरी दिन दर्शन पूजन किया।

गर्भ गृह में भीड़ ना हो इसके लिए तैनात महिला एवं पुलिस के जवान दर्शन पूजन के बाद लोगों को मंदिर परिसर से बाहर निकालने में लगे रहे। सिंह द्वार के बाहर भी पुलिस टीम सुरक्षा में तैनात रही। थानाध्यक्ष मिथिलेश मिश्रा एवं मेला इंचार्ज  मंदिर के अंदर भीड़ बढ़ने पर स्वयं मोर्चा संभालते दिखाई पड़े। मंदिर के दोनों प्रवेश द्वारों की ओर माला, फूल व प्रसाद की दुकानें सजी रहीं।

शक्तिनगर : ज्वालामुखी मंदिर में पुजारियों द्वारा मां का दर्शन पूजन कराते रहे। शारदीय नवरात्र में जहां देशभर के श्रृद्धालु वैष्णों देवी धाम से लेकर सभी 52 शक्ति पीठों में पहुंचकर मां के दर्शन कर पूजा-पाठ कर रहे हैं वहीं शक्तिनगर में विराजमान ज्वाला देवी की महिमा ही अपार है।

नवरात्र की शुरूआत प्रतिपदा से लेकर सप्तमी तक रोजाना भोर से ही भक्तों का तांता मंदिर परिसर में लगा रहता है। माता भक्त बड़ी सिद्धत के साथ माथा टेककर आशीर्वाद लेते है। मंदिर में कतारबद्ध श्रद्धालु मां की एक झलक पाने के लिए व्याकुल रहते है। शक्तिनगर स्थित ज्वाला देवी सहित कई मंदिरों में भक्त झूमते हुए नजर आए। कई मंदिरों में तो सुबह से ही श्रद्धालुओं का तांता लगा रहा। सिंगरौली से भी ज्वाला मां की दर्शन के लिए सैकड़ों की संख्या में भक्त पहुंच रहे हैं। वहीं स्थानीय क्षेत्र के भक्त पहुंच रहे हैं। कुुछ तो भक्त ऐसे भी हैं जो बगैर किसी साधन के मां का दर्शन करने के लिए मंदिर पहुंच रहे हैं। माता देवी की भक्ति में श्रद्धालु गर्भगृह की सैकड़ों बार परिक्रमा करते हैं।

आस्था का हुजूम

शारदीय नवरात्र के सातवें दिन दर्शन पाने के लिए ज्वाला देवी मंदिर में सुबह से ही आस्था का हुजूम उमड़ पड़ा। इस दौरान मंदिर के आसपास का वातावरण मां शेरावाली के जयकार से भक्तिमय हो गया। भक्त मंदिरों में मां की एक झलक पाने को व्याकुल दिखे। देवी के दर्शन के लिए श्रद्धालुओं का तांता सुबह से ही लगा रहा।

मंदिरों में पहुंचकर श्रद्धालुओं ने मनोकामनाओं को पूर्ण करने वाली मां के चरणों में धूप, दीप व नैवेद्य चढ़ाए। मंदिर और उसके बाहर मां की भक्ति में सराबोर श्रद्धालु माता का जयकारा लगाते रहे। हाल यह रहा कि अपनी भक्ति में कोई भी श्रद्धालु कमी नहीं छोडऩा चाहता था। हर कोई माता को खुश के लिए आराधना कर रहा था।

मां के लग रहे जयकारे

शक्तिनगर ज्वालामुखी मंदिर मां के जयकारे लग रहे थे। ज्वालामुखी मंदिर में तो बाहर के भी श्रद्धालुओं की काफी भीड़ हो रही है। उत्तरप्रदेश से लगे मध्यप्रदेश के सिंगरौली से भक्तों की भीड़ पहुंच रही है।

वहीं छत्तीसगढ़ के भक्त भी मां का दर्शन करने के लिए ज्वाला देवी मंदिर पहुंच रहे हैं। नवरात्र के अवसर पर जिले भर में भोजपुरी भक्ति गीतों की गूंज सुनाई दे रही है। इन गीतों पर कहीं भक्त झूम रहे हैं तो कहीं जयकारा लग रहा है। इससे हर क्षेत्र का वातावरण भक्तिमय हो गया है।

फेसबुक पर हमसे जुड़ने के लिए यहां क्लिक करें, साथ ही ताज़ा अपडेट के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर हमें फॉलो करें।

From around the web