देवी मंदिरों में नवमी पूजा के साथ नवरात्र विदा

 
00

विनोद मिश्रा
बांदा।
शारदीय नवरात्र के अंतिम दिन नवमी को देवी मंदिरों में श्रद्धालुओं ने हवन-पूजन के साथ नारियल, पान, बताशा चढ़ा कर विशेष पूजा-अर्चना की। महिलाओं श्रद्धालुओं की संख्या ज्यादा थी। जवारा विसर्जन में उमाह गीत गूंजते रहे। गालों में सांग नाथकर नाचे-थिरके।

गुरुवार को शहर के महेश्वरी देवी, कालीदेवी, सिंहवाहिनी, कालका देवी, महामाई, मरहीमाता, चौसठ जोगिनी मंदिर में तड़के से देवी भक्तों के जत्थे ढोलक-मजीरों के साथ गीत गाते पहुंचे। पूजा अर्चना और हवन के साथ देवी भागवत व सप्तशती पाठ का समापन हुआ। कन्याभोज व भंडारा हुआ। शाम को सदर विधायक प्रकाश दिवेदी नें माहेश्वरी मंदिर में शाम को आरती कार्यक्रम में भाग लिया एवं पूजन-अर्चन किया।

नौ दिन व्रत रखने वालों ने जवारा विसर्जन के साथ व्रत पारायण किया। गिरवां के खत्री पहाड़ विंध्यवासिनी मेला में आसपास के ग्रामीणों समेत सीमावर्ती मध्य प्रदेश के गांवों से हजारों श्रद्धालु देवी दर्शन को आए। बेंदा की कालका देवी मंदिर में पूर्व विधायक दलजीत सिंह नें पूजन अर्चन किया। यहां क्षेत्रीय लोगों के साथ सीमावर्ती फतेहपुर व कौशांबी जिले से आए श्रद्धालुओं की भीड़ रही।

फेसबुक पर हमसे जुड़ने के लिए यहां क्लिक करें, साथ ही ताज़ा अपडेट के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर हमें फॉलो करें।

From around the web