यूपी चुनाव : नामांकन में सिर्फ दो लोगों को ही अंदर मिलेगी जाने की अनुमति

vote

राकेश पाण्डेय
लखनऊ।
निर्वाचन आयोग से जारी विधानसभा चुनाव कार्यक्रम की जानकारी जिला निर्वाचन अधिकारी अयोध्या नितीश कुमार ने कलेक्ट्रेट सभाकक्ष में दी। पत्रकार वार्ता में बताया कि जिले की सभी पांच विधानसभा सीट के लिए मतदान पांचवें चरण में 27 फरवरी को होगा।

एक फरवरी से शुरू नामांकन प्रक्रिया की अंतिम तिथि आठ फरवरी है। नौ फरवरी को नामांकन पत्रों की जांच होगी, 11 फरवरी को नाम वापसी है। मतगणना 10 मार्च को है। नामांकन में प्रत्याशी के साथ सिर्फ दो लोगों को जाने की अनुमति होगी। प्रत्याशी नामांकन में दो वाहन ही प्रयोग में ला सकेंगे। आयोग ने पहली बार आनलाइन नामांकन की सुविधा भी प्रत्याशियों को दी है। निर्वाचन अधिकारी कक्ष में ही नामांकन संबंधी सारी औपचारिकताएं पूर्ण की जाएगी। आयोग ने पहली बार दिव्यांग व 80 वर्षाीय वृद्ध के लिए पोस्टल बैलेट की सुविधा दी है। जिले को 25 जोन और 193 सेक्टर में बंटा गया है।
      
271-रुदौली विधानसभा सीट के लिए नामांकन न्यायालय नगर मजिस्ट्रेट में उप जिलाधिकारी/निर्वाचन अधिकारी स्वप्निल यादव कराएंगे। 273-मिल्कीपुर (अजा) सीट के लिए अपर जिला मजिस्ट्रेट वित्त एवं राजस्व कोर्ट में निर्वाचन अधिकारी दिग्विजय प्रताप सिंह, 274-बीकापुर सीट का नामांकन बंदोबस्त अधिकारी चकबंदी कोर्ट पर निर्वाचन अधिकारी अनुराग प्रसाद, 275-अयोध्या विधानसभा क्षेत्र का नामांकन न्यायालय उप जिलाधिकारी सदर में निर्वाचन अधिकारी रामकुमार शुक्ल एवं 276-गोसाईंगंज सीट के लिए नामांकन अपर जिला मजिस्ट्रेट प्रशासन कोर्ट पर निर्वाचन अधिकारी संदीप कुमार श्रीवास्तव कराएंगे। जिला मजिस्ट्रेट ने बताया कि आदर्श आचार संहिता के समस्त उपबंध आठ जनवरी से प्रभावी हैं।
    
निर्वाचक नामावलियों अंतिम प्रकाशन के समय पुरुष मतदाताओं की संख्या नौ लाख 80 हजार 11 एवं महिला मतदाताओं की संख्या आठ लाख 65 हजार 163 है। कुल मतदाताओं की संख्या 18 लाख 45 हजार 305 है। 18 से 19 आयु वर्ग के मतदाता 20 हजार 16 है। दिव्यांग मतदाताओं की संख्या 11 हजार 119 है। 80 वर्ष से अधिक आयु के मतदाता 32 हजार 769 हैं।
     
जिले में एक हजार 131 कुल मतदान केंद्र हैं। शहरी मतदान केंद्र 118, ग्रामीण मतदान केंद्र एक हजार 13 हैं। कुल मतदेय स्थलों की संख्या दो हजार 168 हैं, जिसमें शहरी 359 एवं ग्रामीण मतदेय स्थलों की संख्या एक हजार 809 हैं।
     
जिले को 25 जोन, 193 सेक्टर में बांटा गया है। 334 क्रिटिकल मतदेय स्थल हैं। सकुशल चुनाव संपन्न कराने के लिए दो हजार 168 रैंप है। वेबकास्टिग के लिए एक हजार 84 मतदेय स्थल चिन्हित किए गए हैं। जिला निर्वाचन अधिकारी ने बताया कि प्रथम स्तर के परीक्षण में खराब मिली ईवीएम-वीवी पैट को बेंगलुरू भेजा गया है। चुनाव के दौरान 15 उड़नदस्ता, 17 स्थायी निगरानी टीम, 115 वीडियो निगरानी टीम, 15 वीडियो अवलोकन टीम, पांच लेखा टीम, पांच सहायक व्यय प्रेक्षक, छह आदर्श आचार संहिता टीम और एक पेड न्यूज टीम बनाई गई है।

फेसबुक पर हमसे जुड़ने के लिए यहां क्लिक करें, साथ ही ताज़ा अपडेट के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर हमें फॉलो करें।

From around the web