घर से बाहर निकलोगे तभी संघर्ष की परिभाषा समझोगे: लक्ष्य

lakshay

नोएडा। लक्ष्य की नोएडा टीम ने "संघर्ष की परिभाषा को समझेगा बहुजन, एक दिन अवश्य  हुक्मरान बनेगा बहुजन" अभियान के तहत एक भीम चर्चा का आयोजन नोएडा के सेक्टर 100 में स्थित सपना सेन जी के निवास स्थान पर किया जिसमें लखनऊ से आईं लक्ष्य कमांडर संघमित्रा गौतम व मुन्नी बौद्ध ने मुख्य वक्ता के रूप में हिस्सा लिया।

लक्ष्य कमांडरों ने मान सम्मान के लिए संघर्ष व लक्ष्य संगठन के 23 वर्षों का सफरनामा विषय पर विस्तार से चर्चा की।

संघर्ष से ही अधिकारों को प्राप्त किया जा सकता है । संघर्ष तो हम आज भी कर रहे हैं लेकिन वह संघर्ष हम अपने जीने के लिए कर रहे हैं, हमे अपने अधिकारों के लिए अर्थात् मान सम्मान के लिए भी संघर्ष करना होगा, इस संघर्ष की परिभाषा को अच्छे से समझना होगा और इसको सीखने के लिए अपने-अपने घरों से बाहर निकलना होगा। यह बात लक्ष्य कमांडर संघमित्रा गौतम व मुन्नी बौद्ध ने कही l

उन्होंने समाज के लोगों से आवाहन करते हुए कहा कि समाज के दुखदर्द को भी अपना दुखदर्द समझो और उसके लिए भी संघर्ष करो । उन्होंने जोर देते हुए कहा कि जो नेता दूसरे की गुलामी करता हो, उनके इशारे पर अपना मुंह खोलता और बंद करता हो ऐसे नेताओं से कोई उम्मीद करना अपने आप को धोखा देना है।

लक्ष्य कमांडरों ने लक्ष्य के 23 वर्षों के समाजिक संघर्ष के सफरनामे पर भी विस्तार से प्रकाश डालते हुए कहा कि समाज में एक ऐसा ईमानदार व संघर्षशील संगठन होना चाहिए जो समाज की ताकत बन सके और स्वार्थी नेताओं पर लगाम कस सके।

यहां ये बता दें कि लक्ष्य कमांडर संघमित्रा गौतम व मुन्नी बौद्ध सामाजिक आंदोलन की मजबूती के लिए पश्चिमी उत्तर प्रदेश के तीन दिवसीय दौरे पर थीं l

इस भीम चर्चा में लक्ष्य कमांडर संघमित्रा गौतम, मुन्नी बौद्ध,रविंद्र कुमार, सुरेश कुमार,मुदित सिंह,आशा गौतम,असमा गौतम,जितेंद्र कुमार, फिरोज,निहारिका गौतम,आर्यन सिंह ने हिस्सा लिया।

फेसबुक पर हमसे जुड़ने के लिए यहां क्लिक करें, साथ ही ताज़ा अपडेट के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर हमें फॉलो करें।

From around the web