निर्यातक 2025 की उपलब्धियों को लेकर बनाएं योजनाः मुख्यमंत्री धामी

डंके की चोट पर 'सिर्फ सच'

  1. Home
  2. Uttrakhand

निर्यातक 2025 की उपलब्धियों को लेकर बनाएं योजनाः मुख्यमंत्री धामी

cm dhami


देहरादून। मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने कहा कि राज्य में उद्योगों को बढ़ावा देने के लिये कारगर प्रयास किए जा रहे हैं। इसलिए निर्यातक अभी से 2025 के लक्ष्य को लेकर योजना को बनाएं। प्रदेश में निर्यात को बढ़ावा देने के लिये उत्पादक और निर्यातक को सहयोगी की भूमिका निभानी होगी।

मुख्यमंत्री धामी ने शुक्रवार को मालसी देहरादून स्थित एक होटल में उत्तराखण्ड में निर्यात को बढ़ावा देने से संबंधित संगोष्ठी को सम्बोधित कर रहे थे। मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य में उद्योगों को बढ़ावा देने के लिये कारगर प्रयास किए जा रहे हैं। राज्य में उद्योगों के अनुकूल वातावरण है। हमारा प्रदेश देवभूमि के साथ आध्यात्म, योग व शांति की भूमि है। कानून व्यवस्था अनुकूल होने से उद्योगों के साथ निवेश से जुड़े उद्यामियों के लिये माहौल बेहतर है। उन्होंने निर्यात से जुड़े उद्यमियों का आह्वान किया कि वे ऐसी योजना बनाये जो 2025 में हमारी उपलब्धि बने।

मुख्यमंत्री ने कहा कि यह पहल सभी हितधारकों और संस्थानों को एक साथ लाने में मददगार होगी। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में आज का भारत नया भारत है। शक्तिशाली व समरथ भारत हर दिशा में आगे बढ़ रहा है। हमने अगले पांच वर्ष में राज्य की जीडीपी को दोगुना करने का लक्ष्य लिया है। इसमें निर्यात पर विशेष रूप से फोकस करना होगा।

मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य सरकार सेवा क्षेत्र के योगदान में सुधार पर भी ध्यान दे रही है। पर्यटन क्षेत्र को उद्योग का दर्जा दिया है। राज्य में पांच सितारा होटलों की स्थापना के भी प्रयास किये जा रहे हैं। उद्योग और आंतरिक व्यापार को बढ़ावा देने के लिए विभाग डीपीआईआईटी द्वारा आयोजित बिजनेस रिफॉर्म एक्शन पॉइंट रैंकिंग में उत्तराखंड शीर्ष राज्यों में से एक है। राज्य ने सभी लाइसेंस प्राप्त करने और संचालन शुरू करने के लिए अनुमोदन प्राप्त करने के लिए सिंगल विंडो क्लीयरेंस सिस्टम को वन.स्टॉप शॉप के रूप में भी शुरू किया है।

सचिव उद्योग डॉ पंकज कुमार पाण्डे ने प्रदेश में उद्योगों को बढ़ावा देने के लिए किए जा रहे प्रयासों की जानकारी दी।

इस अवसर पर फेडरेशन आफ इंडियन एक्सपोर्ट आरगेनाइजेशन के रीजनल चेयरमैन अश्वनी कुमार, इंडियन एक्जिम बैंक की एमडी हर्षा बंगारी सहित अन्यों ने भी अपने विचार रखे। कार्यक्रम में निदेशक उद्योग सुधीर नौटियाल, भारतीय आयात निर्यात बैंक के तरूण शर्मा सहित विभिन्न संस्थानों से जुड़े लोग उपस्थित थे।